Skip to content

Patanjali Medha Vati in Hindi: पतंजलि मेधा वटी के फायदे / नुकसान और उपयोग

पतंजलि मेधा वटी के फायदे / नुकसान / उपयोग और कीमत

Patanjali Medha Vati in Hindi
Patanjali Medha Vati in Hindi


तेज दिमाग की चाहत हर किसी को होती है, लेकिन आलसी जीवनशैली और गलत खान-पान के कारण कई लोगों की सोचने-समझने की क्षमता और याददाश्त कमजोर होने लगती है। कई बार बढ़ती उम्र के कारण दिमाग की क्षमता कमजोर हो जाती है। आयुर्वेद में ऐसी जड़ी-बूटियों के बारे में बताया गया है जो दिमाग को तेज और सक्रिय बनाती हैं और दिमाग से जुड़ी बीमारियों के खतरे को भी कम करती हैं। आचार्य बालकृष्ण के अनुसार याददाश्त बढ़ाने और मस्तिष्क संबंधी समस्याओं के खतरे को कम करने के लिए पतंजलि दिव्य मेधा वटी एक्स्ट्रा पावर का सेवन करें। इस लेख में हम आपको Patanjali Medha Vati के फायदे, नुकसान और सेवन के तरीके के बारे में विस्तार से बता रहे हैं।

पतंजलि मेधा वटी एक्स्ट्रा पावर क्या है?

Patanjali Medha Vati एक्स्ट्रा पावर पतंजलि आयुर्वेद द्वारा निर्मित एक आयुर्वेदिक दवा है। जिसका उपयोग स्मृति हानि, सिरदर्द और अनिद्रा जैसी बीमारियों के इलाज में किया जाता है। यह दवा टैबलेट के रूप में आती है और आप इसे बिना प्रिस्क्रिप्शन के खरीद सकते हैं।

पतंजलि मेधा वटी सामग्री: Patanjali Medha Vati Ingredients

Patanjali Medha Vati को बनाने में अश्वगंधा और शंखपुष्पी समेत कई आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों का इस्तेमाल किया गया है। दवा लेबल पर दी गई जानकारी के अनुसार, Patanjali Medha Vati में निम्नलिखित जड़ी-बूटियाँ शामिल हैं:
  • ब्राह्मी
  • शंखपुष्पी
  • नियम
  • ustekhddusa
  • अश्वगंधा
  • मलकागनी
  • सौंफ
  • पुष्करमूल
  • गजवा

पतंजलि दिव्य मेधा वटी एक्स्ट्रा पावर के फायदे: Benefits of Patanjali Divya Medha Vati Extra Power

कई लोग रात में ठीक से नींद न आने या फिर लगातार सिर दर्द की समस्या से परेशान रहते हैं। आचार्य बालकृष्ण के अनुसार मस्तिष्क को जरूरी पोषण न मिलना भी इन समस्याओं का एक कारण है। ऐसे में Patanjali Medha Vati आपके लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकती है। आइए विस्तार से जानते हैं पतंजलि मेधा वटी के अन्य फायदों के बारे में।

1. सिरदर्द से राहत

सिरदर्द की समस्या कई कारणों से हो सकती है. कभी ऑफिस के काम या निजी जिंदगी से जुड़े तनाव के कारण तो कभी दिमाग की थकान के कारण सिरदर्द होता है। पतंजलि मेधा वटी में मौजूद जड़ी-बूटियाँ सिर की थकान दूर करती हैं और सिरदर्द से राहत दिलाती हैं। अगर आपको किसी अन्य बीमारी के कारण सिरदर्द हो रहा है तो बेहतर होगा कि आप पहले किसी आयुर्वेदिक डॉक्टर से सलाह लें और फिर इसका सेवन करें।

2. याददाश्त में सुधार

अगर आप अक्सर चीजें कहीं रख देते हैं और भूल जाते हैं कि उन्हें कहां रखा है या आपको लगता है कि आपकी याददाश्त धीरे-धीरे कमजोर हो रही है, तो ऐसी स्थिति में Patanjali Medha Vati का सेवन करें। इसमें मौजूद ब्राह्मी और शंखपुष्पी याददाश्त में सुधार करती है और आपको मेमोरी लॉस जैसी स्थितियों से बचाती है।

3. अनिद्रा से राहत

रात को ठीक से नींद न आना एक गंभीर समस्या है और इसके कारण भविष्य में कई अन्य बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। कई लोग नींद न आने पर नींद की गोलियों का सहारा लेते हैं, जो उनकी सेहत के लिए हानिकारक होती हैं। इसकी जगह आपको Patanjali Medha Vati का सेवन करना चाहिए। इसमें मौजूद जड़ी-बूटियां दिमाग को शांत करती हैं और जल्दी नींद लाने में मदद करती हैं। रात को सोने से पहले पतंजलि मेधा वटी का सेवन करें।

4. मिर्गी के खतरे को कम

मिर्गी एक तंत्रिका संबंधी विकार है जिसके कारण रोगी को दौरे पड़ने लगते हैं और शरीर में कंपकंपी या कंपकंपी महसूस होने लगती है। इससे मरीज बेहोश भी हो सकता है। आचार्य बालकृष्ण के अनुसार Patanjali Medha Vati मिर्गी के रोगियों के लिए बहुत उपयोगी है। इसके नियमित सेवन से मिर्गी की संभावना कम हो जाती है।

5. चिड़चिड़ापन या गुस्से को शांत

अगर आपको छोटी-छोटी बातों पर गुस्सा आने लगता है या फिर आप हमेशा चिड़चिड़े रहते हैं तो Patanjali Medha Vati का सेवन करें। इसमें मौजूद तत्व दिमाग को शांत कर ठंडक प्रदान करते हैं, जिससे गुस्सा कम होता है और मूड भी अच्छा रहता है।

6. विद्यार्थियों के लिए

यह आयुर्वेदिक औषधि पढ़ाई करने वाले लोगों या विद्यार्थियों के लिए बहुत उपयोगी है। Patanjali Medha Vati के सेवन से न सिर्फ उनकी याद रखने की क्षमता बढ़ती है बल्कि उनकी तार्किक शक्ति भी बेहतर होती है। परिणामस्वरूप, उनके शैक्षणिक क्षेत्र में सफल होने की संभावना बढ़ जाती है।

पतंजलि दिव्य मेधा वटी का सेवन कैसे करें: How to consume Patanjali Divya Medha Vati

आप रोजाना Patanjali Medha Vati की एक या दो टैबलेट का सेवन कर सकते हैं। इसे आमतौर पर दूध के साथ लिया जाता है। बेहतर होगा कि सही खुराक के लिए पहले किसी आयुर्वेदिक डॉक्टर से सलाह लें।

पतंजलि दिव्य मेधा वटी के नुकसान: Side Effects of Patanjali Divya Medha Vati

आचार्य बालकृष्ण के मुताबिक, आमतौर पर Patanjali Medha Vati के सेवन से कोई नुकसान या साइड इफेक्ट नहीं देखा गया है। हालाँकि, फिर भी यह सलाह दी जाती है कि कभी भी आयुर्वेदिक डॉक्टर द्वारा बताई गई मात्रा से अधिक मात्रा में इसका सेवन नहीं करना चाहिए। तीन वर्ष से कम उम्र के बच्चों के लिए पतंजलि दिव्य मेधा वटी एक्स्ट्रा पावर का उपयोग न करें।

पतंजलि दिव्य मेधा वटी की कीमत और पैक साइज: Price of Patanjali Divya Medha Vati

पतंजलि आयुर्वेद की आधिकारिक वेबसाइट के मुताबिक, Patanjali Medha Vati के 120 टैबलेट के पैक की कीमत 250 रुपये है। भविष्य में कीमत और पैक साइज में बदलाव हो सकता है।
आगे और पढ़िए:-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *